5 तरीके: नकारात्मक सोच से छुटकारा पाकर हर वक्त रहिये प्रेरित

negative -thoughts

जिंदगी में ऐसा समय भी आता है जब नकारात्मकता (negativity) आपके चारो और दिखाई पड़ती है, आपके सपने सच नहीं हो रहे होते है और आपकी आशा ख़तम होती जाती है.

ऐसे वक्त में कई लोग अपनी नकारात्मकता स्थिति को चलने देते है, वैसे तो आप बदलती स्थिति को बदल नहीं सकते लेकिन आप उस स्थिति में अपना व्यवहार और प्रतिक्रिया बदल सकते है.

अपने आस-पास के वातावरण को सकारात्मक बना कर अपने आप को अपने सपनो और लक्ष्यों तक पहुचने के लिए प्रेरित कर सकते है.

1. अच्छा होने की उम्मीद रखे

expect

बुरे वक्त में भी सकारात्मक उम्मीद रखने पर आपकी स्थिति बदलने की संभावना बढ़ जाती है.

यकीन माने आप जो भी अपनी जिन्दगी से उम्मीद करते है आपको वही मिलता है. इसलिए हर रोज अपनी जिंदगी से कुछ अच्छा होने कि उम्मीद रखे जो एक दिन आपके साथ में होगा.

हर सुबह कॉच के सामने खड़े होकर यह कहे कि “आज मैं अपने साथ में कुछ अच्छा होने कि उम्मीद रखता हूँ”

2. आप जो कर सकते है उसे अच्छे से करे, और जो नहीं कर सकते उसके बारे में फ़िक्र नहीं करे

depress-person

कुछ चीजो को बदलना आपके हाथ में होता है तो कुछ नहीं, इन दोनों के बिच का फर्क समझना सीखे. जिस स्थिति/चीज को आप नहीं बदल सकते उसके बार में चिंता नहीं करे.

अपने आप को गहरी भावना से बहार निकाले, क्योंकि हर काम को अच्छे तरीके से नहीं किया जा सकता हर बार कोई न कोई कमी रह ही जाती है. आपको अपनी कमियों और गलतियों को सुधारते जाना है और काम को अच्छे तरीके से करते जाना है.

“वो व्यक्ति जिसने कभी कोई भी गलती नहीं की, मतलब उसने कुछ नया करने की कोशिश ही नहीं की.” – Albert Einstein

3. प्रेरणा देने वाले को सुने

sandeep-maheshwari-motivational-speaker

आज के वक्त में YouTube पर काफी प्रेरित करने वाले व्यक्ति आ गए है. जो जिंदगी में परेशान लोगो कि मदद कर उन्हें प्रेरित करते है. YouTube पर आप ऐसे लोगो को सुन कर आप अपने आप को प्रेरित रख सकते है.

इन व्यक्तियों को YouTube पर सुने जो निचे उनके YouTube channel के लिंक दिए गए है.

4. सकारात्मक लोगो के साथ रहो

अगर आप किसी ऐसे व्यक्ति के पास में बैठोगे जो नकारात्मक सोचता है तो आप की भी सोच वैसे ही बनती जाएगी, और रही बात अगर आप नकारात्मक में जी रहे है तो ऐसे लोग आपको और नकारात्मक में डाल देगे, अपनी कोशिश रखे सकारात्मक लोगो के साथ रहने की जो आपको नकारात्मक से बहार निकलने में मदद करे, जो समस्या को ठीक करने के बारे में बात करे न कि आपको ये कहे कि यार समस्या आनी भी नहीं चाहिए.

5. दुसरो के साथ में वैसा ही रहे, जैसा आप चाहते हो कि लोग आपके सामने रहे

जैसा कि Sandeep Maheshwari ने निचे video बताया है कि आप  सभी चाहते है कि लोग आपके सामने अच्छा रहे, लोग आपकी गलती माफ़ कर दे, आपके साथ में अच्छा हो, आपकी तारीफ़ हो, आपसे कोई न जले और आप पर कोई गुस्सा न करे. ठीक ऐसा ही इस दुनिया का हर इन्सान, हर जानवर चाहता है. अगर इतनी छोटी सी बात आपको समझ आ जाये तो आपको गुस्सा आना बंद हो जाएगा, आपके दिमाग में किसी इन्सान के लिए नकारात्मक विचार आना बंद हो जाएगा.

क्योंकि इस वक्त आप समझ गए हो कि अगर आप आगे वाले के प्रति नकारात्मक सोचते हो तो ऐसा हो ही नहीं सकता कि वो आपके लिए सकारात्मक सोचे.

6 Comments

  1. Vikas Kumar September 29, 2016
  2. admin August 2, 2016
    • Mohammad Shakeel July 31, 2016
  3. abdul khan July 13, 2016

Leave a Reply