कैसे बनाये पर्सनालिटी, अंग्रेजी सिख कर ?

learn-english-through-hindi

सिखने में अंग्रेजी भाषा बहुत ही बहतरीन हैं और इसे सीखना भी काफी हद तक जरुरी होता जा रहा है, चाहे आप बिज़नस में हो या सफ़र कर रहे हो या फिर अपने किसी सम्बन्धी के साथ में हो.

पहले तो यह समझ ले कि किसी भी भाषा को सिखने के लिए आपको महनत करनी होती है, और रोजाना उस पर काम करना होता हैं और गलतिया कर के ही सिखी जाती हैं, तो अगर आप गलतिया से गबराते है तो ऐसे में आप कोई भी भाषा कभी नहीं सिख सकते हैं.

1. सबसे पहले अपने अंग्रेजी बोलना सीखे

पहला: कुछ शब्द या लाइन बोलना शुरू करे

अब आता है Spoken English kaise sikhe यानी angreji bolna kaise sikhe किसी भी भाषा को सिखने का सबसे बहतरीन तरीका यही है की उसे आप बोल कर सीखे. अगर आप केवल अंग्रेजी के 5 शब्द ही जानते हो तब भी कोई दिक्कत नहीं हैं. अपने दोस्तों के साथ या घर वालो के साथ में बात करते समय कुछ अंग्रेजी के शब्द का प्रयोग करे. क्योंकि अंग्रेजी को अगर आप बोल कर सीखते है तो आप इसे बहुत जल्दी सिख पाओगे.

निचे कुछ टिप्स आपकी मदद करेगे कि English me baat kaise kare?

1. जब आप किसी से बात कर रहे होते है, तब आपके मन में यह नहीं होना चाहिए कि इस अंग्रेजी शब्द को कब बोलना है या कोनसा वक्त सही होगा. अगर आप इस तरह से घबराकर उस वक्त का इन्तेजार कर रहे है कि कब आपको बोलना है तो यह वक्त कभी नहीं आएगा. तो अपने आप को फ्री रखो, और गलतिया करने से डरना इससे बहतर है की गलतिया ही कर दे फिर उसे सुधार दे.

2. अपने कोई दोस्त या कोई भी ऐसे सम्बन्धी जो अंग्रेजी बहतर जनता हो और आपके साथ हर रोज 15-20 मिनट निकालने को तैयार हो ऐसे को ढूंढे और उनके साथ बैठ कर अंग्रेजी में बातचीत करे. और हर रोज कोई न कोई अपनी गलतियों पर सुधार करे.

4. अगर आप ऐसे वातावरण में रहते है जहा पर अंग्रेजी भाषा बोली जाती हैं. तो आप अपने मित्र वही से बना सकते है और उनके साथ अंग्रेजी में बात करने की प्रैक्टिस कर सकते है.

5. आप बाहर गए हो और किसी रास्ते का पता करना चाहते है, तो किसी अनजान व्यक्ति को “Hello” बोलकर बातचीत को शुरू करे. ताकि आगे वाला भी आपसे अंग्रेजी बोलने की कोसिस करेगा और इस तरह से आपके कुछ अंग्रेजी में शब्द उपयोग में लेते-लेते अंग्रेजी बोलना आपके लिए आदत बन जाएगी.

6. एक बात हमेशा याद रखे अंग्रेजी में आप किसी भी शब्द को जितनी बार उपयोग में लेते है उस शब्द को उपयोग में लेना आपकी आदत बन जाती है फिर एक दिन उसी शब्द को बोलने के लिए आपको सोचने की जरुरत नहीं पढ़ती है कि कब कौनसा शब्द बोले. क्योंकि आप फिर हर स्थिति के साथ अपने आप बोलोगे.

दूसरा: अपने उच्चारण, बोलने के ढंग को सुधारे

अगर आपको अंग्रेजी का अच्छा ज्ञान हो भी जाता है, यानी आप ग्रामर अच्छी जानते हो और अंग्रेजी के काफी शब्द की मीनिंग भी आपको पता है, फिर भी जब आप किसी अच्छे अंग्रेजी बोलने वाले ज्ञानी से बात करते है तब उन्हें आपके कुछ शब्द या लाइन को समझने में कठिनाई आ सकती है क्योंकि अंग्रेजी भाषा में उच्चारण पर भी ध्यान दिया जाता है.

1. अगर आप अपने अंग्रेजी बोलने के लेवल को बढ़ाना चाहते हैं तो अपने बोलने के उच्चारण को स्पष्ट और सही करने का प्रयास करे. जिस व्यक्ति को अंग्रेजी बोलने में उच्चारण का अच्छा ज्ञान हैं उनसे बात करे और जब वो बोलते है तब उनके शब्दों के उच्चारण को ध्यान से सुने और उन शब्दों को बोलने का आप भी प्रयास करे.

2. इस बात का भी ध्यान रखे की अंग्रेजी शब्दों का उच्चारण देश के आधार पर अलग-अलग होता है. जैसे अमेरिकन की अंग्रेजी, ब्रिटिश अंग्रेजी के अच्चारण में काफी अलग है.

तीसरा: शब्दकोश (डिक्शनरी) का उपयोग करे, अंग्रेजी मुहावरे का प्रयोग करे

आप जितने भी डिक्शनरी से मीनिंग, मुहावरे याद करोगे और साथ में बातचीत के दौरान इन याद किये हुए मीनिंग और मुहावरे का प्रयोग करोगे तो एक तो यह कि आप याद किया हुआ कभी भूलोगे नहीं और दूसरा आपकी हैबिट इस तरह की हो जाएगी कि आप अच्छे अंग्रेजी बोलने लग जाओगे और साथ में आपको बार-बार सोचना नहीं होगा कि कब कोनसा वाक्य कैसे बोलना है. जैसे आप हिंदी बोलते वक्त नहीं सोचते हो.

1. इस बार भी आपको अच्छे अंग्रेजी बोलने वाले के पास में समय बिताना होगा जिससे वो कॉमन उपयोग में होने वाले मुहावरे और मीनिंग बता सकता है और साथ में अगर आप मूवी देखते हैं तो उसमे भी बोले जाने वाले मीनिंग और मुहावरे पर गौर कीजिये आप जितने इंटरेस्ट से मूवी को देखते हो आपको ये मीनिंग मूवी से और भी जल्दी याद होगे, साथ में यह फैक्ट भी है कि हमें सुनने से ज्यादा बहतर याद रहता है.

2. जिस भी शब्द की अंग्रेजी मीनिंग आप याद करते है उसे शुरुआत में प्रयोग में लेने की कोसिस करे, नहीं तो वो शब्द आप जल्दी भूल सकते हो. अगर आप किसी भी शब्द की अंग्रेजी मीनिंग याद करके उसे कुछ दिन के लिए ही प्रयोग में लेते हो तो फिर बाद में उस शब्द को अपने बातचीत की आदत में लेने लगोगे.

3. आप चाहो तो मुहावरों की नोटबुक भी बना सकते हो जैसे अंग्रेजी बोलने वाले करते है. उस नोटबुक में मुहावरों को इस तरह से लिख जैसे “it’s raining cats and dogs” एक मुहावरा है जिसका मतलब हैं तेज़ बारिश हो रही है. जिसे आप इसे तरह से लिख सकते है.
it’s raining cats and dogs (तेज़ बारिश हो रही हैं.)
इस तरह से कुछ और मुहावरे अपने नोटबुक में लिख सकते है:
to be on “cloud nine (अत्यधिक/बहुत खुश होना)
किसी भी काम को लेकर “piece of cake” कहना (जब कोई काम बहुत ही आसान होता हैं)
इस तरह से ये मुहावरे आपके बोलने की पर्सनालिटी को बड़ा सकता है और आपके अंग्रेजी बोलने का लेवल को भी बढाता है.

चोथा: अपने मोबाइल फ़ोन में डिक्शनरी रखे

यदि आप अपने मोबाइल में डिक्शनरी या एक भौतिक (जिसे देखा या छुआ जा सके) डिक्शनरी book साथ में रखते है तो इससे भी आपको शब्दों को काफी अच्छा ज्ञान हो सकता है.

1. साथ में डिक्शनरी होने का अर्थ है कि आप किसी भी शब्द को लेकर अटक नहीं सकते है. मान लो आप सोशल नेटवर्किंग साईट पर अपने दोस्त के साथ अंग्रेजी में चैटिंग कर रहे है और सामने वाले ने कुछ ऐसा शब्द का प्रयोग कर दिया है जिसका आपको मतलब नहीं पता है तो ऐसे में आप डिक्शनरी का उपयोग कर सकते है. चलो ये तो बात हुई ऑनलाइन बातचीत की, लेकिन जब आप किसी व्यक्ति से आमने-सामने (person to person) भी बात करते हो तब भी आप डिक्शनरी का प्रयोग कर सकते है.

2. अगर आप इस तरह से बातचीत के बिच में ही डिक्शनरी का उपयोग करते है जैसे आपकी बातचीत के बिच में ही डिक्शनरी में किसी शब्द का मतलब देखा तो इससे आपकी उस शब्द को याद रखने की मेमरी भी तेज़ होगी और साथ में आपके डिक्शनरी को देखने की आदत भी बढेगी जिसका मतलब है आपकी मीनिंग सिखने की प्रोगेस कभी ख़तम नहीं होगी.

3. यह जरुरी नहीं है कि अंग्रेजी बोलने की प्रैक्टिस या फिर किसी अंग्रेजी वाक्य बनाने की प्रैक्टिस, किसी व्यक्ति के साथ बात करके ही की जा सकती है, अगर आप चाहो तो इसे आप ख्याल में सोच कर भी कर सकते है यानी आप विचार करते-करते भी कई वाक्य बना सकते है जैसे: आप ट्रेन में बैठे है तब आप आस-पास के वातावरण में चीजों पर पर वाक्य बनाए जा सकते है. और अगर किसी चीज को अंग्रेजी में क्या कहते है नहीं पता तो उस वक्त डिक्शनरी का प्रयोग करे. ऐसे करके आप रोजाना कई मीनिंग की तैयारी कर सकते है.

4. शुरुआत में आप वही डिक्शनरी का प्रयोग करे जो अंग्रेजी शब्द का अर्थ हिंदी में समझता है, फिर कुछ देर बाद, यानि जब आपकी अंग्रेजी काफी हद तक अच्छी हो जाती है तब उस डिक्शनरी का प्रयोग करे जो अंग्रेजी शब्द का अर्थ अंग्रेजी में ही समझता है.

2. अपने लिखने की, पढने की और सुनने की स्किल्स को बढाए

पहला: अंग्रेजी में सुनने की स्किल्स को बढाए

अंग्रेजी सुनने की स्किल्स को बढ़ाने का एक बहतरीन तरीको में से एक यह भी है की अंग्रेजी गाने इन्टरनेट से अपने अपने मोबाइल, लैपटॉप, कंप्यूटर या mp3 प्लेयर में डाउनलोड करे.

1. अपने डाउनलोड किये हुए अंग्रेजी गानों को हर रोज 30 मिनट सुनने का प्रयास करे. और अगर कोई शब्द समझ नहीं आये तो इन्टरनेट पर उसी गाने की लिरिक्स को पढ़ते-पढ़ते उस गाने को सुने. इससे आपके किसी भी शब्द के उच्चारण को समझने में भी मदद मिलेगी और आपके अंग्रेजी में सुनने में स्किल्स भी बढ़ेगी.

2. किसी गाने की लिरिक्स पढ़ते समय यदि कोई मीनिंग समझ में नहीं आये उसे उसी वक्त डिक्शनरी में देख ले.

3. इससे अंग्रेजी सुनने की स्किल्स बढ़ने के साथ-साथ आपको नए अंग्रेजी शब्द की मीनिंग पता चलेगे और शब्दों का उच्चारण भी पता चलेगा.

दूसरा: अंग्रेजी में मूवी व टीवी शो देखे

अंग्रेजी गाने सुनने के साथ में, अंग्रेजी मूवी देखना काफी मज़ेदार भी है और साथ में आप इंटरेस्ट के साथ में अंग्रेजी को सिख पाओगे.

1. अगर आप मूवी को अंग्रेजी में अपने लैपटॉप, कंप्यूटर, मोबाइल पर देखते है तो मूवी प्लेयर के स्क्रीन के निचे की साइड सब-टाइटल शो रखे. उस सब-टाइटल में वे सब लाइन लिखी हुई आती है जो मूवी में बोला जाता है.

तीसरा: अंग्रेजी में किताब, अख़बार व मैगज़ीन पढ़े

किताब, अख़बार और मैगज़ीन यह ऐसी चीजे है जिसे आपको रोज पढना होता है, अगर आप इसे भी अंग्रेजी में पढना शुरू कर दे तो आपकी अंग्रेजी बोलने व सुनने के साथ-साथ पढने में भी अच्छी हो सकती हैं.

1. एक व्यक्ति काफी चीजे अपने आस-पास के वातावरण से सीखता है, और साथ में सबसे बड़ा सिखने का स्रोत है तो वो है किताब, अगर आप हेल्थ, कहानिया आदि की किताबे पढ़ते है या फिर किताबो से ही काफी विषय पर अध्ययन करते है, तो ऐसे में धीरे-धीर अंग्रेजी किताबो का प्रयोग करना शुरू कर दे.

2. अगर आपको अख़बार और मैगज़ीन पढने की आदत है तो उसे भी आप अंग्रेजी में करवादे.

3. अगर आप अकेले में बैठे है तो आवाज निकाल कर पढ़े, इससे आपको उच्चारण करने का भी ज्ञान होगा.

4. और अगर आपको कोई शब्द समझ में नहीं आ रहा है तो उसे डिक्शनरी में धुंद ले.

चोथा: अंग्रेजी में लिखने की स्किल्स को बढाए

बोलने की, सुनने की, पढने की स्किल्स के बारे में पढ़ने के बाद आता है लिखने की स्किल्स को बढ़ाना.

1. शुरू में अंग्रेजी में लिखने में काफी दिक्कत हो सकती है लेकिन यह भी बहुत जरुरी हैं क्योंकि इससे आपके स्पेल्लिंग, ग्रामर, वाक्य की रचना में हो रही गलतिया दूर होती है.

2. अगर आप अपनी पर्सनल डायरी रखते है तो उसमे अंग्रेजी में लिखे, ताकि अंग्रेजी में लिखना आपकी एक आदत बन जाएगी. अगर आपकी कोई पर्सनल डायरी नहीं है तो अंग्रेजी सिखने के लिए डायरी बना सकते है जिमसे आप क्या करोगे, क्या किया इस तरह से अपनी प्लानिग या डिनर और लंच में क्या किया आदि लिख सकते है जिससे टेंस का ज्ञान भी बढ़ सकता है. टेंस की गलतिया निकालने के लिए एक किताब का प्रयोग करे जिसमे टेंस को अच्छे से और आसन तरीके से समझाया गया है.

3. और अगर आप चाहो तो अपनी डायरी किसी ऐसे व्यक्ति को बता सकते है जिसको अंग्रेजी का अच्छा ज्ञान हो, ताकि आपको यह पता चल जाएगा की आप कहां गलतिया कर रहे है.

पांचवा: इन्टरनेट पर एक अंग्रेजी बोलने वाला दोस्त बनाए

जब आपकी अंगेरजी लिखने की स्किल्स बढ़ जाती है तो अब वक्त आता है उस पर प्रैक्टिस करना. तो उसके लिए आप सोशल साईट या emails से किसी से बातचीत कर सकते है.

1. अगर आप email से अंग्रेजी जानने वाले से अंग्रेजी में बात करते है तब आपको आपके भेजे गए मेल का रिप्लाई पाने में भी उत्तेजना होगी इससे आपका अंग्रेजी सिखने का excitement level भी बढेगा.

2. आप किसी एसे व्यक्ति को भी इन्टरनेट पर दोस्त बना सकते हो जो आप ही की तरह अंग्रेजी को सिख रहा हो, ऐसे में दोनों एक दुसरे की गलतिया निकाल कर अंग्रेजी की तैयारी कर सकते है.

3. और अगर आपका इन्टरनेट का दोस्त किसी दुसरे देश (विदेशी) का हैं तो एसे में आपका बाहरी देसों में संमंध भी बदेगे और आपको बाहरी देशो का ज्ञान भी होगा.

मुझे तो यह पोस्ट बहुत पसंद आया, क्या आपको आया?
मुझे उम्मीद है इसका जवाब आप निचे अंग्रेजी में लिख कर देगे.

9 Comments

  1. PANKAJ KUMAR GAUTAM February 10, 2017
  2. ajay kumar January 10, 2017
  3. RAJ KAMAL SINGH SINGH September 13, 2016
  4. ankit June 11, 2016
  5. Sandeep tiwary December 25, 2015
  6. akshay November 4, 2015
  7. Sonali October 30, 2015

Leave a Reply