करोड़पति लोग ऐसा क्या जानते हैं जो (शायद) आप नहीं जानते

कामियाब लोग, करोड़ पति लोग, ऊँची स्थिति पर काम करने वाले लोग कामयाब प्रोफेस्सेर ऐसा क्या जानते है जो सायद आप नहीं जानते?

यही हैं आज की इस पोस्ट का टॉपिक, कुछ लोग ऐसा क्या जानते हैं, ऐसा क्या करते हैं की वो करोड़ पति हो जाते हैं और बाकि लोग एसा क्या नहीं जानते, ऐसा क्या नहीं करते जो सारी उम्र संघर्ष करते रहते है।

हो सकता हैं की यह पोस्ट आपकी जिंदगी में आपकी आगे बढ़ने में बहुत मदद कर सकती हैं।

सारे के सारे करोड़ पति, सारे के सारे कामियाब लोग शिक्षित नहीं है, और न ही किसी अलग अकल के मलिख, और न की अपने बाप-दादा की छोड़ी हुई दोलत के कारण अमीर हैं।

इन मेसे ज्यादातर आम इन्सान हैं, कम पढ़े लिखे, औसत अकल और बाप-दादा की छोड़ी हुई कोई दोलत नहीं और न ही किसी बीवी के द्द्वारा लाया गया बड़ा दहेज़।

फर्क सुरु होता हैं first impression से. कहते हैं first 60 सेकंड में जो सामने वाला आपके बारे में सोच लेता हैं वही इमेज बार-बार दोहराता है और यही बात हर जगह लागु होती हैं, बिज़नस डील में, जॉब के इंटरव्यू में और शादी के लिए बातचीत में।

first 60 सेकंड में आपका first impression बनना हैं, और पुरे जिंदगी दुबारा आपको कभी भी एसे 60 सेकंड नहीं मिलने वाले हैं, first impression देने के लिए।

सामने वाला 80 पर्तिशत फैसला आपके first 60 सेकंड में ही लेलेता हैं, और बाकि की बोली प्रक्रिया (biding) उसके द्वारा लिया गया फैसला उसको सही साबित करने में लग जाती हैं।

और वो सही साबित हो भी जाता हैं,

और यह बात जो जानते हैं, यह बात जो करते हैं वो करोड़ पति बन जाते हैं, बड़ी-बड़ी स्थिति पर पहुच जाते हैं और कामियाब हो जाते है।

अब तो आप भी जान गये की आपको first 60 सेकंड में अपना बेस्ट impression देना हैं। लेकिन कैसे? ऐसा क्या करना होगा की first 60 सेकंड में आपका बेस्ट impression जाये।

कुछ भी नहीं करना होगा, में वापस बोलता हु की कुछ भी नहीं करना होगा।

समझ नहीं पा रहे हैं? कुछ भी नहीं करना होगा, और हमारा first impression इसीलिए सही नहीं जाता क्योंकि हम उसके लिए कुछ करता है, और वो नकली और होता हैं, Fake होता हैं, दिखावा होता हैं।

और असली impression, सही impression तो हमारी शारीर की भाषा, हमारी पोशाक, हमारे चेहरे की अभिवक्ति, जीभ की आवास, ये दे जाते हैं और यह हमेशा सही होता हैं।

जब हम कोई दिखावा करने की कोसिस करते हैं , कुछ बनावटी देने की कोसिस करते है तो हमारी शारीर की भाषा, हमारे चेहरी की अभिव्यक्ति, हमारे जीभ की आवाज वो भी बनावटी हो जाती हैं।

आप जो भी जो उस सामने वाले को दिखाई देता हैं, आप कोयला हो या हिरा हो सामने वाला पहचान लेता है, और अगर सामने वाला नहीं पहचान पाया या तो आप नकली हो या फिर वो नकली हैं, या तो आप हेरा नहीं हो या फिर वो जौहरी नहीं है।

आप बस असल जिंदगी में सच्चे-सुच्चे इन्सान बन जाओ सामने वाला जल्दी स्वीकार करेगा और आप जल्दी तरक्की करोगे।

जुट बोल के, दिखावा करके, बनावटी हो के कोई भी इन्सान आज तक करोड़ पति नहीं बन पाया, ऊँची-ऊँची स्थिति पर नही पहुच पाया, एक कामियाब प्रोफेशनल नहीं बन पाया।

अगर जिंदगी में कुछ करना है न या कुछ बनाना है तो बस सच बोल दो..!!

जो लोग अभी कामियाब नहीं हुए न उनको लगता हैं की जुट से विकास आसन हो जाता है, मेरे प्रिय मित्रो केवल सच से ही विकास मिलता हैं और स्थाई (Permanent) मिलती है।

जुट बनावट शॉर्टकट हो सकता है, लेकिन शोर्ट रन के लिए। और लॉन्ग रन शॉर्टकट से नहीं चली जाती।

सच्चे रहो, सच्चे-सुच्चे इन्सान, इमानदार, वफादार रहो क्योंकि इमानदार, वफादार और सच्चे-सुच्चे बन्दे को दिखाना नहीं पढता बल्कि दिखाई दे जाता है।

तो अगर आप चाहते हो की सामने वाला आप पर विश्वास करे, आपको वो सच्चा-सुच्चा इन्सान समझे, आपको वो इमानदार इन्सान समझे, आपको वफादार सोचे तो आपको ऐसा ही बनना पड़ेगा।

दूसरा जरुरी व्यवहार जो करोड़ पति में पाया हैं, कामियाब प्रोफेशनल में पाया हैं, और ऊँचे-ऊँचे स्थिति पर बैठे लोगो में पाया हैं। वो है दुसरे की मदद करनी। वो स्वार्थी नहीं होते है, वो केवल अपनी डुग-दुगी नहीं बजाते है।

अगर आप गूगल पर जाओ, और गूगल की पालिसी पढो, तो आप समझ जाओगे की में क्या कहना चाहता हूँ। गहराग को क्या चाहिए, गहराग को कैसे फ़ायदा हो सकता हैं, गहराग को कैसे खुस किया जा सकता हैं, आप केवल इतना ही करो प्रॉफिट अपने आप कही न कही से आ ही जाएगा।

और आज गूगल सबकुछ फ्री देता हैं, सर्च इंजन फ्री, जीमेल फ्री, गूगल मैप फ्री, YouTube फ्री, जीपीएस फ्री पता नहीं कितनी apps फ्री फिर भी अगर आप देखो तो गूगल दुनिया के सबसे अमीर कंपनी में से एक हैं।

हमारे यहाँ के लोग तो यह भी बताना पसंद नहीं करते की अच्छी सब्जी कहा से मिलती है, कही दुसरे के घर में भी अच्छी सब्जी ना आ जाए। मेरे पास प्रूफ हैं, मेरे 90 पर्तिशत इस पोस्ट को पढने वाले दुसरो को यह नहीं बताते की कहा से सिख रहे है और आप भी इन्ही 90 पर्तिशत में सामिल हो।

क्योंकि उनको अगता है की अगर वो दुसरो को share करेगे तो उनका प्रभाव कम हो जाएगा। मेरे प्रिय मित्रो में अपनी study को, अपनी रिसर्च को, अपनी महनत को, अपने तर्जुबे को YouTube पर फ्री में फ्री दाल देता हु, में सबकुछ पैसे दे के सीखता हूँ लेकिन गूगल जिंदाबाद जिसने मुझे सिखाया आ के दुसरो का फ़ायदा सोचो, और आज मेरे फ्री videos अपलोड करने के बाद मेरी कमाई पहले से ज्यादा हैं।

मेरे प्रिय मित्रो अगर आप कामियाब होना चाहते हो, अगर आप करोडपति बनना चाहते हो, अगर आप ऊँची-ऊँची स्थिति पर काम करना चाहते हो, तो दुसरे को कामियाब करने के तरीके धुन्धो, वो अपने आप आपको कामियाब करने के तरीके धुंधेगे।

अगला अब जो मेने उनमे पाया है वो है धन्यवाद का व्यवहार। ये लोग शुक्रगुजार (Thankful) होते है। नाशुक्र (thankless) नहीं होते। अगर आपको बोला जाए की कुछ सोचो की कभी आप किसी के काम आये थे। कही भी। तो आपको बहुत बाते याद आ जाएगी, किसी को नोकरी दिलवाई होगी, किसी को पैसे की मदद की होगी, किसी को अस्पताल में एडमिट करवाया होगा, किसी को लिफ्ट दी होगी, और किसी को और किसी को फ्री में पढाया होगा।

लेकिन,

कभी सोचा है की लोग आपके कहा-कहा काम आये थे, किसी ने आपको नौकरी दिलवाई होगी, किसी ने पैसे की मदद की होगी, किसी ने आपको लिफ्ट दी होगी कोई आपके बुरा समय में काम आय होगा।

सोचा ही नहीं कभी और अगर सोचा भी होगा तो अकेले में। जो आपके काम आया था उसको तो पता भी नहीं होगा जो आप उसकी गैर मौजूदगी में आप उसके बारे में सोचते हो।

इस पोस्ट को ख़तम होते ही आपको ऐसे ही एक व्यक्ति को कॉल करना है और उसका धन्यवाद करना है और यह अभ्यास रोज अलग-अलग लोगो के लिए करनी है। और इसके बाद देखना जादू आपकी कामयाबी कहा से कहा पहुँच जाएगी।

मन्दिर में, मस्जिद में, गुरुद्वारे में, चर्च में, भगवान् जी का, खुदा का, उस गॉड का, उस वाहे गुरु का आश्रीवाद लेते होना तो वो जरुर लो।

और साथ में अपने गाइड का, अपने ध्यान रखने वाले का, अपने अध्यापक का, अपने सलाहकार का उनका भी आश्रीवाद लो और उनको भी धन्यवाद् बोलो। कमियाबी का जादू रोज दिखेगा। और यह सभी कामियाब लोग यही करते है।

तो इस पोस्ट का केंद्रीय विचार क्या निकला?

नंबर एक: पहले 60 सेकंड का ही प्रभाव ही आपके व्यापार समझोता (Business Deal) final करवा सकता है, व्यवसाय को कामियाब करवा सकता है और आपको ऊँची-ऊँची स्थान पर जॉब दिलवा सकता है। और इन 60 सेकंड में आप दिखावटी नहीं कर सकते, बनावटी नहीं कर सकते हो। जो बनना चाहते हो, जो दिखना चाहते हो वो बन जाओ। क्योंकि आपकी शारीर की भाषा (Body Language), आपके चेहरे के अभिव्यक्ति (Face Expression), आपकी जीभ की आवाज (Tongue of Voice) वैसी ही बन जाएगी।

नंबर दो: दुसरो की मदद करो उनको जताओ, उनको कामियाब करवाओ, उनके बारे में सोचो, वो चाहे आपके ग्राहक है, आपके नौकर है या आपके दोस्त या आपके रिश्तेदार। जैसे ही आप उनकी तरक्की के बारे में सोचोगे वो अपने आप आपकी तरक्की के बारे में सोचना शुरू कर देंगे।

और तीसरा: धन्यवान का व्यवहार (Attitude of Gratitude)। अपने अध्यापक, अपने मार्ग दिखने वाला (Guide), अपने सलाहकार (Advisor), अपने ध्यान रखने वाले को रोज धन्यवाद करो। उनको सूचित करो की आपकी किमियाबी में उनका भी बहुत बड़ा हाथ है, और उन लोगो को भी धन्यवाद करो जो कभी न कभी-कही न कही आपकी मदद की थी। और उन लोगो को भी धन्यवाद करो जिन्हें आप नहीं जानते हो लेकिन हो सकता है उनका योगदान भी आपकी कमियाबी में आपकी तरक्की में हो।

मेरे सभी प्यारे दोस्तों ये तीनो बाते मेने हर करोड़ पति में पाई है, हर कामियाब प्राध्यापक (Professor) में पाई है, और हर ऊँची स्थान पर काम करने वाले लोगो में पाई है।

और इन तीनो बातो का एक जादू जो है: वो कामियाब है।

मुझे यह पोस्ट बहुत अच्छी लगी अगर आपको भी लगी तो comment में अपने विचार बताए। share तो इस बार करोगे ही, मेरी सुभकामनाए आपके साथ है, मेरा आश्रीवाद आपके साथ है। आपकी सहत और बढ़िया हो, आपके परिवार की ख़ुशी और बड़े, आपकी इनकम और बड़े, समाज में आपकी इज्जत और बड़े, आपका दिमाग और तेज़ हो और आपकी आत्मा आपकी रूह और पवित्र और और पाक हो।

All the Best

139 Comments

  1. Shivam May 21, 2018
  2. Balendra kumar May 3, 2018
  3. MD Arshad kal April 22, 2018
  4. Adil shaikh April 21, 2018
  5. Bharat April 6, 2018
  6. nitin shakya February 6, 2018
  7. Vipin Sajwan October 2, 2017
  8. Gajendra Lal Muglani September 18, 2017
  9. Jai July 19, 2017
  10. vikas maurya July 18, 2017
  11. sonu raj hasmukh June 16, 2017
  12. Ram Kumar June 2, 2017
  13. trilok jangid May 29, 2017
  14. sunnypal May 5, 2017
    • Shiv Vashishtha August 18, 2017
  15. sunnypal May 5, 2017
  16. Raghuvendra Patel March 31, 2017
  17. Jeetu raja March 18, 2017
  18. shailesh February 5, 2017
  19. Sandesh Mahala January 31, 2017
  20. Anilraj Kumar Sarawata January 15, 2017
  21. jaydeo January 2, 2017
  22. praveen rawat December 27, 2016
  23. Shahid mirza December 16, 2016
  24. DANISH December 4, 2016
  25. NITIN TYAGI December 3, 2016
  26. pawan frund December 1, 2016
  27. ChintaL November 12, 2016
  28. sidhu November 2, 2016
  29. Pradeep rathore November 1, 2016
  30. Dinesh Kumar Jayti October 18, 2016
  31. MUKESH DUBEY October 15, 2016
  32. KHUSHAL SINGH September 27, 2016
  33. davesh September 27, 2016
  34. rajkumar jaiswal September 25, 2016
  35. RAJ KAMAL SINGH SINGH September 13, 2016
  36. Nilesh dave September 12, 2016
  37. Eknath September 4, 2016
  38. Aniket Kamble August 30, 2016
  39. Sanjay bharti August 15, 2016
  40. girdhar sahu August 13, 2016
  41. anuj August 11, 2016
  42. Manik August 2, 2016
  43. sonu August 1, 2016
  44. pawan kumar July 25, 2016
  45. Keshav Gautam July 19, 2016
  46. gayansingh July 10, 2016
    • Mohammad Shakeel July 11, 2016
  47. phool singh chouhan July 5, 2016
  48. susant July 1, 2016
  49. pramod prasad June 30, 2016
  50. Dhananjoy Das June 28, 2016
  51. saket singh June 13, 2016
  52. Ajit Pandey May 28, 2016
    • Mohammad Shakeel May 31, 2016
  53. madhav April 25, 2016
  54. ashish April 19, 2016
  55. ajay April 15, 2016
  56. DEBASIS DUTTA. April 2, 2016
    • Admin April 11, 2016
  57. bhavin patel March 6, 2016
  58. RAMKESH MEENA February 14, 2016
  59. Deepak MIshra January 27, 2016
    • Admin February 2, 2016
  60. chetan January 6, 2016
    • Admin January 7, 2016
  61. mangesh varpe December 21, 2015
  62. AMAR NATH December 20, 2015
  63. Dupesh achare December 16, 2015
    • Admin December 17, 2015
  64. manisha vyas December 16, 2015
    • Admin December 16, 2015
  65. manisha vyas December 16, 2015
    • Admin December 16, 2015
  66. GOPI MAHAJAN November 20, 2015
  67. Babloo sharma November 20, 2015
    • Admin November 20, 2015
  68. VISHAL BHAGAT November 12, 2015
  69. Jatin Arora November 4, 2015
    • Admin November 5, 2015
  70. ut November 4, 2015
  71. Abdul kazi October 27, 2015
    • Admin October 27, 2015
  72. Mahaveer Chauahan October 22, 2015
    • Admin October 25, 2015
  73. Pravesh Kumar October 21, 2015
    • Admin October 21, 2015
  74. Denish October 19, 2015
    • Admin October 20, 2015
  75. akshay August 30, 2015
    • Admin September 1, 2015
  76. PAPPU KUMAR August 25, 2015
    • Admin August 28, 2015
  77. kuldeep saini August 3, 2015
    • Admin August 5, 2015
  78. hanuman August 1, 2015
    • Admin August 2, 2015
  79. Mayank Kanungo July 27, 2015
    • Admin July 31, 2015
  80. avinash July 27, 2015
    • Admin July 27, 2015
  81. vivek soni July 11, 2015
    • Admin July 12, 2015
  82. Radhe Roy July 1, 2015
  83. raj meena July 1, 2015
    • Admin July 1, 2015
  84. prakash samant July 1, 2015
    • Admin July 1, 2015
  85. Sushil kumar July 1, 2015
    • Admin July 1, 2015
  86. Sushil kumar July 1, 2015
    • Admin July 1, 2015
  87. prakash samant June 30, 2015
    • Admin July 1, 2015
  88. Mayur Ramprasadi June 30, 2015
  89. karan borse June 30, 2015
    • Admin June 30, 2015
    • harishanker shukla December 21, 2015
  90. Kanahaiya bhushan June 30, 2015
    • Admin June 30, 2015
  91. Shashank shekhar singh. June 30, 2015
    • Admin June 30, 2015
  92. Asif June 29, 2015
    • Admin June 30, 2015
  93. neha June 27, 2015
    • Admin June 27, 2015
    • ashish April 19, 2016

Leave a Reply