आपको दूसरों की मदद क्यों करनी चाहिए?

why-should-you-help-others

जब भी मैं कुछ ऐसा पढ़ता हूँ, देखता हूँ या सुनता हूँ। जो मुझे लगता है की मेरी और आपकी लाइफ के लिए जरुरी है, तो आपसे शेयर किये बिना मुझसे रुका नहीं जाता है।

एक बार एक किसान और उसकी बीवी एक डिब्बा खोल रहे होते है. उस समय एक चूहा एक सुरंग में से उनको देख रहा होता है की इस डिब्बे में क्या होगा खाने के लिए और उस चूहे की ख़ुशी एक दम डर में बदल जाती है जब वो देखता है कि इस डिब्बे के अंदर चूहा दानी है, और वो किसान उस चूहे दानी को चूहा पकड़ने के लिए घर में लगा देता है।

वो चूहा परेशान हो जाता है, डर जाता है कि घर में चूहा दानी लग गयी है. वो उसी वक़्त बाकी जानवरों के पास जाता है अपनी परेशानी को लेकर, सबसे पहले वो मुर्गी के पास जाता है।

मुर्गी कहती है :  मैं समझ सकती हु चूहा दानी तेरे लिए खतरा है लेकिन इससे मुझे क्या फरक पड़ रहा है “मेरे को क्या?”

फिर वो चूहा मदद मागने के लिए बकरी के पास जाता है।

बकरी भी आगे से जवाब देती है: देख चूहे मेरी हमदर्दी तेरे साथ है, मैं तेरे लिए दुआ मांग लुंगी और कुछ नहीं कर सकती आगे बड़ो।

वो चूहा और परेशान हो जाता है, फिर वह सुअर के पास जाता है और सुअर को कहता कि यार घर में चूहा दानी लग गयी है में खतरे में हूँ।

वो सुअर भी उसे जवाब दे देता है: कि यार खतरा होगा तेरे लिए, मैं क्यों परेशानी लु। मेरे पास इतना समय नहीं है तेरे लिए।

इन सबसे मदद मांगने के बाद चूहा बिचारा निराश हो जाता है, परेशान हो जाता है, उदास हो जाता है कि में रह गया अकेला अब मुझे अकेले ही इस चूहा दानी का सामना करना पड़ेगा।

फिर आधी रात को अचानक रसोई घर से आवाज आती है. किसान की बीवी सोचती है की पक्का चूहा फस गया होगा वो उठ के रसोई घर में देखने जाती है कि चूहा फसा या नहीं, अंधरे में उसे पता नहीं चलता कि उस चूहे दानी में एक सांप की पुंछ फस जाती है और वो सांप उसी वक़्त उस किसान की बीवी को काट लेता है।

वो किसान उसी समय अपनी बीवी को हॉस्पिटल लेकर जाता है, फिर थोडा बहुत इलाज करवा के एक दो दिन में अपनी बीमार बीवी को वापस घर ले आता है। अब बीमार बीवी को ठीक करने के लिए उस किसान को चिकन सूप बनाना है, तो चिकन सूप बनाने के लिए उस मुर्गी को काट के बना लेता है.

अब दो तीन दिन निकल गए लेकिन बीवी की बीमारी ठीक नहीं हो रही थी। जिस जिस को पता लग रहा है वो खबर लेने आ रहे है. अब लोग आ रहे उनको खाने के लिए कुछ बनाना है तो फिर किसान उस बकरी को काट के उनके लिए खाना बना लेता है।

कुछ दिन बाद किसान की बीवी मर जाती है, अब इतने लोग इकट्ठे हुए है तो उनको खिलाने के लिए कुछ ज्यादा चाहिए तो फिर वो किसान सुअर को भी काट लेता है।

इसलिए अगली बार कोई अगर आपके पास अपनी समस्या लेकर आये, तो ये मत सोचना की आपको इससे क्या फरक पड़ता है। क्योकि अगर मुसीबत चूहे को आती है तो खतरा पुरे फार्म को होती है।

तो ध्यान रखिये –

अगली बार अगर आपके परिवार में कोई मुसीबत में है तो खतरा पुरे परिवार को है।

अगली बार अगर आपके ऑफिस में कोई मुसीबत में है तो खतरा पूरी कंपनी को है।

अगली बार अगर आपके मोह्हले में कोई मुसीबत में है तो खतरा पुरे मोह्हले को है।

**शिक्षाप्रद कहानियों का विशाल संग्रह**

6 Comments

  1. Devdatt nishad December 31, 2017
  2. ANOOP MITTAL November 23, 2015
    • Admin November 23, 2015
  3. vinod tudu July 17, 2015
  4. sushil kumar July 2, 2015
    • Admin July 5, 2015

Leave a Reply